विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Coronavirus: उत्तराखंड के नौ और जमाती मिले कोरोना पॉजिटिव, पांच देहरादून, एक बाजपुर और तीन यूपी में हैं भर्ती

उत्तराखंड में छह और लोग कोरोना पॉजिटिव सामने आए हैं। इसमें पांच देहरादून और एक बाजपुर से है। ये सभी लोग दिल्ली व अन्य शहरों से जमात में शामिल होकर उत्तराखंड लौटै थे। 

3 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

पौड़ी

शनिवार, 4 अप्रैल 2020

अबूधाबी से लौटा युवक परिवार सहित क्वारंटीन

देवप्रयाग/नई टिहरी। संयुक्त अरब अमीरात की राजधानी अबूधाबी से लौटे एक युवक को पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम रात में ही उसके गांव से राजकीय मेडिकल कॉलेज श्रीनगर ले आई। वहीं, एहतियातन उसके परिजनों को जीएमवीएन गेस्ट हाउस में क्वारंटीन कर दिया गया है। युवक को पहले आइसोलेट किया गया था, लेकिन उसमें कोरोना के लक्षण नहीं दिखने पर क्वारंटीन किया गया है।
टिहरी जिले की जाखणीधार तहसील के एक गांव का युवक 21 मार्च को अबूधाबी से लौटा था। उसके पिता चंडीगढ़ में नौकरी करते हैं। दिल्ली एयरपोर्ट में उसने चंडीगढ़ जाने की बात बताई। एयरपोर्ट में उसने आधार कार्ड के आधार पर पता भी दर्ज करवाया, लेकिन जब उसे अपने माता-पिता के गांव होने की सूचना मिली तो वह चंडीगढ़ के बजाय 23 मार्च को अपने गांव पहुंच गया। 27 मार्च को एक स्वास्थ्य केंद्र में अपनी स्क्रीनिंग भी कराई। इसमें उसकी स्थिति सामान्य निकली। इस बीच विदेश से आए यात्रियों की जब ट्रेवल हिस्ट्री निकाली गई तो पता चला कि युवक चंडीगढ़ के बताए पते पर नहीं पहुंचा, जिसके बाद चंडीगढ़ से जिला प्रशासन टिहरी को युवक के बारे में सूचित किया गया । जानकारी मिलते ही जिला प्रशासन हरकत में आया और देवप्रयाग व हिंडोलाखाल से डॉक्टरों की टीम को रात को ही युवक के गांव में भेजी गई। टीम उसे मेडिकल कॉलेज श्रीनगर ले आई, जहां उसका चेकअप कर आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। युवक में कोरोना के लक्षण नहीं दिखने पर अब उसे क्वारंटीन किया गया। एडीएम टिहरी शिवचरण द्विवेदी ने बताया कि युवक की दादी को हिंडोलाखाल अस्पताल में रखा गया है, जबकि परिवार के चार सदस्यों (माता-पिता, पत्नी और भाई) को श्रीनगर में क्वारंटीन किया गया है।
प्रवासियों की जुटाई जानकारी
दुगडडा। सीओ अनिल कुमार जोशी ने बृहस्पतिवार को बाहरी राज्यों से लौटे प्रवासियों और जमात में शामिल हुए लोगों की जानकारी ली। सीओ ने बताया कि फतेहपुर, रामागांव, चर, धरगांव, भैड़गांव समेत कई गांवों के बाहर नौकरी करने वाले लोग लॉकडाउन के दौरान घरों को लौटे हैं। उनकी जानकारी ग्रामीणों की ओर से पुलिस और प्रशासन को मिल रही है। बताया कि फतेहपुर, दुगड्डा आदि गांवों के 60 लोगों को होम क्वारंटीन में रहने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने दुगड्डा व गुमखाल में चौकियों और चेक पोस्ट का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था और लॉकडाउन के दौरान की स्थिति का जायजा लिया।
>>>>>>
बंगलूरू से लौटा युवक आइसोलेशन वार्ड में भर्ती
रुद्रप्रयाग/चमोली। बंगलूरू से एक सप्ताह पूर्व आए एक युवक को स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि युवक एक सप्ताह पूर्व बंगलूरू से अपने घर आ गया था। उसे खांसी, बुखार की शिकायत की थी। सूचना पर गांव पहुंची चिकित्सकीय टीम द्वारा युवक को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। इसके अलावा देहरादून से आए एक व्यक्ति को होम क्वारंटीन में रखा गया है। गोपेश्वर। चमोली जिले में एक और व्यक्ति में कोरोना जैसे लक्षण मिलने पर जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रख दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से व्यक्ति के सैंपल को परीक्षण के लिए हल्द्वानी भेज दिया गया है। सीएमओ डा. केके सिंह ने बताया कि एक चिकित्सक समेत चार लोग बुधवार को आइसोलेशन में रखे गए थे। उनके सैंपल भी हल्द्वानी भेज दिए गए हैं, जबकि बृहस्पतिवार को गौचर क्षेत्र से एक अन्य व्यक्ति में भी कोरोना के जैसे लक्षण मिलने पर उसे जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। उसका सैंपल भी हल्द्वानी भेज दिया गया है। सीएमओ ने बताया कि यह व्यक्ति बाहर से गौचर आया था और पिछले कुछ दिनों से क्वारंटीन में रखा गया था।
संवाद
श्रीनगर में 52 व गौचर में 20 लोग क्वारंटीन
श्रीनगर/गौचर। कोरोना वायरस संक्रमण से सुरक्षा के लिए स्थानीय प्रशासन ने विभिन्न प्रदेशों और देशों से क्षेत्र में पहुंचे 52 लोगों को क्वारंटीन में रखा है। एसडीएम कीर्तिनगर संदीप तिवारी ने बताया कि देवप्रयाग में 35 लोगों को व मलेथा के एक होटल में सात बाबाओं को क्वारंटीन में रखा गया है। बताया कि ये लोग जंगलों के रास्ते से अपने गंतव्य की ओर आ जा रहे थे। कई जगहों पर पैदल रास्ते का विकल्प न होने से ये पैदल पुलों से मुख्य मोटर मार्ग पर पहुंच गए। इसी दौरान यह पुलिस प्रशासन की नजर में आए। दूसरी ओर एसडीएम श्रीनगर दीपेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि जीएनवीएन श्रीनगर में 10 लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है। उधर गौचर में कोरोना से बचाव एवं सुरक्षा के लिए बाहर से आए आठ अन्य लोगों को क्वारंटीन में रखा गया है। डीएम स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि क्वारंटीन किए गए लोगों के लिए खानें की पूरी व्यवस्था की गयी है और उन्हें वार्डों में ही खाना पहुँचाया जा रहा है । लेकिन वार्डों में भर्ती लोगों को आपस में गेम खेलने और एक दूसरे के संपर्क में रहने की अनुमति नहीं है। संवाद
धर्मशाला में क्वारंटीन 22 में से चार होम क्वारटींन
लैंसडौन। स्थानीय प्रशासन ने लैंसडौन की धर्मशाला में क्वारंटीन किए गए 22 लोगों में से पौड़ी जनपद के विभिन्न क्षेत्रों के चार लोगों को होम क्वारंटीन के लिए भेज दिया है। नायब तहसीलदार हरीश जोशी ने बताया कि एक अप्रैल को गुमखाल में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर सभी 22 लोगों को लैंसडौन की धर्मशाला में क्वारंटीन किया गया था। इन सभी 22 लोगों का मेडिकल परीक्षण करवाया गया। इनमें से किसी में भी कोरोना के लक्षण नहीं पाए गए। चार लोगों को होम क्वारंटीन के लिए भेज दिया गया है। संवाद
प्रधान करें होम क्वारंटीन पर रखे गए प्रवासियों की मॉनीटरिंग
उत्तरकाशी। कोरोना महामारी के चलते बाहरी देश एवं राज्यों से अपने घर लौटे प्रवासियों द्वारा होम क्वारंटीन का पालन नहीं करने से संभावित खतरे को देखते हुए डीएम डा.आशीष चौहान ने सभी ग्राम प्रधानों से भी इनकी मॉनीटरिंग करने को कहा है। उन्होंने प्रधानों से होम क्वारंटीन का उल्लंघन करने वालों की सूचना संबंधित खंड विकास अधिकारी एवं कंट्रोल रूम को देने की अपील की है।
डीएम डा.आशीष चौहान ने होम क्वारंटीन का उल्लंघन करने वालों की सूचना संबंधित बीडीओ एवं कंट्रोल रूम में दूरभाष नंबर 01374222641 व 01374222126 पर देने को कहा है।
... और पढ़ें

उज्जवला लाभार्थियों निशुल्क मिलेगी रसोई गैस

बाहर से आने वाले लोगों पर रखी जाए कड़ी निगरानी: हरक सिंह

कोविड-19 के संक्रमण के बचाव, रोकथाम एवं प्रभावी नियंत्रण के लिए जिले के प्रभारी मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने राजकीय मेडिकल कॉलेज में स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को जरूरत की सामग्री समय पर मंगवाने के निर्देश दिए। उन्होंने मुख्यालय पौड़ी में भी वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से समस्त उपजिलाधिकारियों व खंड विकास अधिकारियों की बैठक ली, जिसमें उन्होंने बाहर से आने वाले लोगों पर कड़ी निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए हैं।
बुधवार को प्रदेश के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह ने मेडिकल कॉलेज के सभागार में आयोजित बैठक में अधिकारियों के साथ कोविड-19 से निपटने के लिए मंथन किया गया। इस अवसर पर प्राचार्य प्रो. सीएम रावत ने बताया कि कोरोना उपचार केंद्र बनाने के लिए शासन से साढ़े चार करोड़ रुपये की मांग की गई है। बताया गया कि मेडिकल कॉलेज में कोरोना की जांच के लिए किट खरीदी गई है, जो अभी देहरादून में है। उसके कुछ उपकरण आने हैं। इसके बाद मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजिस्ट की ओर से शासन से विधिवत अनुमति ली जाएगी। बैठक में संयुक्त अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. एसएस चौहान, एसडीएम दीपेंद्र नेगी, डा. केके अग्रवाल, डा. नवज्योति बोरा, डा. लोकेश सलूजा, माइक्रोबायोलॉजिस्ट डा. पूजा शर्मा व डा. विनिल आहूजा आदि मौजूद थे। दूसरी ओर मुख्यालय पौड़ी में वीडियो कान्फ्रेंस के माध्यम से वन एवं पर्यावरण मंत्री डा. हरक सिंह रावत ने जिले में एक हजार से अधिक ग्राम पंचायतों में 11 हजार के करीब प्रवासी ग्रामीण पहुंचे हैं। ग्राम प्रधानों व प्रशासन के सहयोग से लगभग सभी को घरों में क्वारंटीन कर लिया गया है। डा. रावत ने कहा कि जनपद में पहली बार 108 सेवा वाहन में डाक्टर भी तैनात किए गए हैं। इस दौरान जिला पूर्ति अधिकारी ने बताया कि जिले में 415 सस्ता- गल्ला विक्रेताओं ने आवश्यक वस्तुएं उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध कराना शुरू कर दिया है। इस अवसर पर एसएसपी दलीप सिंह कुंवर, एडीएम डा. एसके बरनवाल, सीएमओ डा. मनोज बहुखंडी, डीडीओ वेद प्रकाश, एपीडी सुनील कुमार, एसडीएम मनीष कुमार आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

नाजुक हालात में थोपा गया डोमिसाइल का फैसला

जम्मू। नई डोमिसाइल व्यवस्था का विरोध तेज होता जा रहा है। जम्मू वेस्ट असेंबली मूवमेंट के अध्यक्ष सुनील डिंपल ने कहा कि लॉकडाउन के हालात में केंद्र ने नई डोमिसाइल व्यवस्था प्रदेश के लोगों पर थोप दी है। इससे युवाओं को रोजगार नहीं मिलेगा। इसके अलावा लखनपुर टोल प्लाजा शुरू कर टैक्स लगा दिया है। मौजूदा समय में प्रदेश आर्थिक संकट से जूझ रहा है। उन्होंने कहा कि डोमिसाइल कोरोना वायरस से भी घातक है। इसका खामियाजा सारी उम्र भुगतना पड़ेगा। राज्य से विशेष दर्जा भी छिना लिया गया है। विशेष अधिकार केंद्र को वापस देने होंगे।
जेकेपीसीसी के महासचिव और इंचार्ज जिला प्रधान जम्मू अर्बन योगेश साहनी ने कहा कि नई डोमिसाइल व्यवस्था जम्म-कश्मीर के युवाओं के हित में नहीं है। इससे सरकारी नौकरियों में युवाओं का हक कम हुआ है।
केंद्र ने जम्मू-कश्मीर पर लगातार नए फैसले थोपे हैं। पहले जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग करके केंद्र शासित प्रदेश बना दिया। सरकार ने वादा किया था कि जम्मू-कश्मीर के युवाओं का हक नहीं छीना जाएगा, लेकिन सरकार ने नई डोमिसाइल व्यवस्था लाकर वादा खिलाफी की है। जम्मू-कश्मीर में 50000 नौकरियां देने के दावे किए थे, लेकिन सब खोखले साबित हुए हैं। अन्य कांग्रेसी नेताओं में रमांकांत खजूरिया, बीबी गुप्ता, आनंद गंडोत्रा, ठाकुर जय सिंह, विनोद कोहली, उत्तम सिंह, वीरेंद्र सिंह मन्हास आदि ने भी विरोध जताया।
प्रदेश के लोगों के अधिकार छीन लिए : सिंह
जम्मू। डोमिसाइल कानून लागू करने से प्रदेश के लोगों में काफी आक्रोश हे। इससे बेरोजगार युवाओं को रोजगार नहीं मिल पाएगा। यह बात नेशनल पैंथर्स पार्टी के पूर्व मंत्री हर्ष देव सिंह ने प्रेस वार्ता में कही। उन्होंने कहा कि फैसले से जन आक्रोश बढ़ा है। हालत यह है कि सोशल मीडिया पर युवाओं को इस पर टिप्पणी करने से भी रोका जा रहा है। ऐसा सहन नहीं किया जाएगा। फैसले से योग्य युवा भी रोजगार हासिल करने में असमर्थ रहेंगे।
अब अन्य देशों के हजारों और लाखों प्रवासी लोग भी प्रदेश के निवासी बनेंगे। योजनाओं के लाभ भी ले पाएंगे। मगर प्रदेश के लोगों के अधिकार छीन लिए गए हैं। 15 साल से यहां पर रहने वाले मजदूर भी लाभ उठा सकेंगे। साथ ही नौकरी के लिए भी पात्र होंगे।
... और पढ़ें

कश्मीर में खाद्य पदार्थों की सप्लाई की समीक्षा

जम्मू। उपराज्यपाल के सलाहकार बसीर खान ने शुक्रवार को कश्मीर के अधिकारियों से लॉकडाउन के दौरान की स्थिति और जरूरी पदार्थों के वर्तमान दर्जे की समीक्षा की। सलाहकार ने इस दौरान मंडलायुक्त कश्मीर को निर्देश दिए कि वह कैंसर मरीजों की सूची जारी करवाएं ताकि इन मरीजों को समय पर दवाई मिलती रहे। उन्होंने कोरोना वायरस के लक्षण वाले मरीजों की रिपोर्ट संबंधित अधिकारियों को समय पर मिलती रहे इसकी भी व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। राशन व अन्य जरूरी पदार्थों की सप्लाई स्थिति भी सुचारु बनाए रखने के लिए कहा। इस अवसर पर संबंधित अधिकारियों ने कश्मीर संभाग में बनी स्थिति का पूरा ब्यौरा पेश किया। बैठक में मंडलायुक्त पीके पोले, पुलिस महानिरीक्षक विजय कुुमार व जिलों के उपायुक्त भी मौजूद रहे। ... और पढ़ें

सख्ती से ली जा रही ट्रकों और एंबुलेंस की तलाशी

लॉकडाउन के दौरान कई लोगों के ट्रकों और एंबुलेंसों में बैठकर आने का मामला सामने आने पर पुलिस-प्रशासन सख्त हो गया है। सब्जी हो या राशन के ट्रक सभी की पूरी तलाशी ली जा रही है। वहीं एंबुलेंस चालकों के कागजात बारीकी से चेक किए जा रहे हैं।
सामान्य दिनों में चमोली, पौड़ी, टिहरी व रुद्रप्रयाग जिलों से भारी संख्या में रात के समय सब्जी के ट्रकों में लोगों को ढोया जाता है। ड्राइवर के केबिन से लेकर छत और सामान रखने वाले स्थान में लोग ठूंसे रहते हैं। जबकि मालवाहक वाहनों में सवारियों को ले जाना साफ मना है। इसके बावजूद यह ट्रक उत्तराखंड की कई पुलिस बैरियर पारकर उत्तरप्रदेश पहुंच जाते हैं। वहीं, एंबुलेंसों में भी मरीजों की आड़ मेें सवारियां ढोने की भी शिकायतें मिल रही हैं। एसडीएम कीर्तिनगर संदीप तिवारी ने बताया कि जांच टीम को सख्ती से तलाशी के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही सवारी ढोने वाले वाहनों की भी तलाश की जा रही है। वहीं कोतवाल श्रीनगर एनएस बिष्ट ने बताया कि बैरियरों पर वाहनों को पूरी तलाशी के बाद आगे जाने दिया जा रहा है।
... और पढ़ें

उच्च शिक्षा मंत्री ने किया अस्पताल का निरीक्षण

प्रदेश के उच्च शिक्षा राज्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने जिला चिकित्सालय पौड़ी का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य में स्थितियां नियंत्रण में हैं। कहा कि जिले के कोरोना चिकित्सालय आईएएस अधिकारियों के हवाले किया गया है। जिला चिकित्सालय पौड़ी में एसडीएम सदर अंशुल सिंह व मेडिकल कालेज श्रीनगर में सीडीओ हिमांशु खुराना व्यवस्थाओं की देखरेख कर रहे हैं। कहा कि सरकार ने सभी जनपदों के सीएमओ को 50 लाख की धनराशि दी है। साथ ही विधायकों ने 15-15 लाख की राशि दी है। जिले में अभी यह राशि कम ही खर्च हुई है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेदिक व होम्योपैथिक चिकित्सकों को भी सीएमओ के अधीन किया गया है। इससे पहले डा. रावत ने नागचुलाखाल, बुंगीधार, मासौ, थलीसैण, चाकीसैण, पैठाणी, त्रिपालीसैण, साकरसैण आदि स्वास्थ्य केन्द्रों, आयुवेदिक व होम्योपैथिक केन्द्रों का स्थलीय निरीक्षण किया। ... और पढ़ें

पौड़ी में अपने गांव लौटे 60 प्रवासी

कोरोना के संक्रमण के बीच जिले में अब तक विदेश से 60 प्रवासी अपने-अपने गांव लौटे। इनमें से स्पेन से लौटा एक प्रवासी कोरोना पाजिटिव मिला। हफ्तेभर के इलाज के बाद उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आई। वहीं अन्य को स्वास्थ्य विभाग ने उन्हीं के घरों में क्वारंटीन किया।
वैसे कोरोना संक्रमण के दौरान में अभी तक 11 हजार 391 लोग जिले की 1009 ग्राम पंचायतों में लौटे हैं। इनमें से 60 प्रवासी हैं। उनकी सूची जिला पंचायत राज विभाग ने जिला प्रशासन व स्वास्थ्य महकमे को दी है। प्रवासियों में दुबई, अमेरिका, लंदन, नेपाल, अबूधाबी, थाईलैंड, दक्षिण अमेरिका, मालद्वीप, कुवैत, बहरीन, चीन व नीदरलैंड से लौटने वाले लोग शामिल हैं। सबसे ज्यादा थलीसैंण ब्लाक में 12, यमकेश्वर में 8, एकेश्वर, खिर्सू व कोट ब्लाक में 5-5, नैनीडांडा, रिखणीखाल, द्वारीखाल व पौड़ी में 4-4 प्रवासी शामिल हैं। कल्जीखाल व बीरोंखाल में 3-3, पाबौ में दोे और दुगड्डा में एक प्रवासी गांव लौटा। जिला पंचायतराज अधिकारी एमएम खान और एसीएमओ डॉ. रमेश कुंवर ने बताया कि कोरोना पाजिटिव युवक अभी भी अस्पताल में भर्ती है। हालांकि उसकी रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है।
... और पढ़ें

आम आदमी पार्टी ने डोमिसाइल कानून की निंदा की

डोमिसाइल कानून पर सियासत गरमाई, वापस न लेने पर आंदोलन की चेतावनी

जम्मू। डोमिसाइल कानून का जहां विरोध शुरू हो गया है वहीं विपक्षी दलों को बैठे बिठाए राजनीतिक मुद्दा मिल गया है। खासतौर से नेकां, कांग्रेस, अपनी पार्टी व पैंथर्स आदि दल इस मुद्दे को किसी भी हालत में छोड़ने के मूड में नहीं दिख रहे हैं। मुख्य दलों में से केवल भाजपा ही अब तक डोमिसाइल अधिसूचना का स्वागत कर रही है।
पीडीपी पूर्व की तरह महबूबा मुफ्ती की गैैर मौजूदगी में सक्रिय राजनीति से अभी भी दूर है और पार्टी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती की रिहाई का बेसब्री से इंतजार कर रही है। पार्टियों में पीडीपी को छोड़कर अन्य दलों के नेता एक-दूसरे के संपर्क में भी हैं। विपक्षी दल युवाओं तक इस मुद्दे को लेकर जाना चाहते हैं ताकि केंद्र सरकार को घेरा जा सके। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गुलाम अहमद मीर, पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और अपनी पार्टी के अध्यक्ष अल्ताफ बुखारी डोमिसाइल नियमों की अधिसूचना पर तीखी प्रतिक्रिया जताकर भविष्य की राजनीति की तरफ साफ इशारा कर चुके हैं।
डोमिसाइल कानून के खिलाफ पैंथर्स पार्टी चेयरमैन हर्ष देव सिंह ने वीरवार को पार्टी कार्यालय के बाहर डोमिसाइल कानून के खिलाफ हाथों में पोस्टर लेकर विरोध व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर के लोगों के साथ विश्वासघात किया है। शिक्षित बेरोजगार युवाओं के अधिकारों की रक्षा के लिए अनुच्छेद 370 हटाने की बात करने वाली सरकार ने अपना असली रूप दिखाया है।
शिवसेना बाला साहेब ठाकरे जेएंडके अध्यक्ष मनीष साहनी ने डोमिसाइल की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि इसे जम्मू-कश्मीर के युवाओं के साथ धोखा, खिलवाड़ और नाइंसाफी है। साहनी ने कहा कि इसे ऐसे समय लागू किया गया है कि कोई इसका विरोध करने के लिए सड़कों पर भी नहीं उतर सकता। साहनी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के युवाओं के लिए 80 प्रतिशत का कोटा आरक्षित होना चाहिए। ऐसा न होने पर उग्र आंदोलन शुरू किया जाएगा।
युवा कांग्रेस अर्बन के जिलाध्यक्ष राहुल टंडन ने कहा कि भाजपा सरकार ने डोमिसाइल लोगों पर थोप दिया है। यह फैसला स्वीकार नहीं है। युवाओं के साथ अन्याय नहीं होना चाहिए।
मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेता मोहम्मद यूसुफ तारिगामी ने जम्मू-कश्मीर के लिए नए डोमिसाइल कानून को लोगों के साथ मजाक बताया है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में बेरोजगारी की दर राष्ट्रीय बेरोजगारी दर से अधिक है। ऐसे में नए डोमिसाइल कानून में बाहरी राज्यों के युवाओं के लिए रोजागार के द्वार खोलना प्रदेश के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना है।
... और पढ़ें

विस्थापितों के नए पंजीकरण पर रोक लगे

जम्मू। भाजपा के वरिष्ठ नेता अश्विनी कुमार चुरंगू ने केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के लिए नई डोमिसाइल नीति की अधिसूचना का स्वागत करते हुए इसे जन आकांक्षाओं को पूरा करने वाला केंद्र का बड़ा फैसला बताया है।
उन्होंने कहा कि अधिसूचना में राहत और पुनर्वास आयुक्त की तरफ से पंजीकृत किए गए विस्थापितों को भी डोमिसाइल माना गया है। ऐसे में राहत आयुक्त की तरफ से अब विस्थापितों के नए पंजीकरण पर रोक लगाई जानी चाहिए। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता ब्रिगेडियर अनिल गुप्ता ने भी डोमिसाइल अधिसूचना का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि नए डोमिसाइल कानून से सभी लोगों को लाभ होगा और भाई भतीजावाद खत्म हो जाएगा।
... और पढ़ें

सातवें दिन जम्मू-श्रीनगर हाईवे एकतरफा खुला

जम्मू। जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग सातवें दिन वीरवार को एकतरफा खोल दिया गया है। रामबन के डलवास क्षेत्र में हाईवे के 400 मीटर क्षतिग्रस्त हिस्से को दुरुस्त किया गया। एकतरफा हाईवे खोले जाने पर रास्ते में फंसे सैकड़ों ट्रकों को आवश्यक वस्तुएं लेकर कश्मीर के लिए रवाना किया गया। रामबन के डिप्टी एसपी हाईवे अजय आनंद के अनुसार हाईवे के क्षतिग्रस्त हिस्से को पूरी तरह से ठीक करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है।
इस बीच न्यूनतम तापमान माइनस 1.2 डिग्री सेल्सियस के साथ कारगिल सबसे ठंडा रहा। लेह में न्यूनतम तापमान 1.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान केंद्र श्रीनगर के अनुसार शुक्रवार को जम्मू कश्मीर में मौसम साफ रहेगा।
जम्मू कश्मीर के अधिकतर हिस्सों में वीरवार को मौसम साफ रहा। ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर में दिन का तापमान 15.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। जम्मू संभाग में भी धूप खिली रही। जम्मू में दिन का तापमान 26.7 और न्यूनतम तापमान 15.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। संभाग में न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस के साथ भद्रवाह सबसे ठंडा रहा। बटोत में न्यूनतम 5.9, बनिहाल में 6.2 और कटड़ा में 13.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
-------------
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us