विज्ञापन
विज्ञापन
अधिक मास एकादशी पर कराएं खीर का दान, ग्रहों के बुरे प्रभाव होंगे दूर
astrology

अधिक मास एकादशी पर कराएं खीर का दान, ग्रहों के बुरे प्रभाव होंगे दूर

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

Kaushambi: कौशाम्बी में पुरानी रंजिश को लेकर दिनदहाड़े गोली मारकर युवक की हत्या

सरायअकिल कोतवाली के रसूलपुर टप्पा गांव में रविवार सुबह पुरानी रंजिश में मवेशी चराने गए युवक की तमंचे से गोली मारकर हत्या कर दी गई।जान बचाने दौड़े युवक के भतीजों को भी हत्यारोपियों ने दौड़ा लिया। युवक की मौत से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है। मौके पर पंहुची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

रसूलपुर टप्पा गांव का नितेश (32वर्ष) पुत्र प्रेम मजदूर है। गांव में कुछ लोगों से उसकी पुरानी रंजिश है। परिवार वालों के मुताबिक रविवार सुबह नौ बजे वह मवेशियों को लेकर चराने गया था। गांव स्थित कालोनी में पड़ोस के ही आधा दर्जन युवकों ने उसे घेरकर पीटना शुरू कर दिया।आरोप है कि जब उसने जान बचाकर भागने का प्रयास किया तो हमलावरों ने उसे  कनपटी में तमंचा सटाकर गोली मार दिया। जिससे उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

शोर सुनकर बचाने दौड़े नितेश के भतीजों दिलीप व रंजीत को भी हमलावरों ने दौड़ा लिया। दोनों ने गांव की तरफ भागकर किसी तरह अपनी जान बचाई। गोली की आवाज सुनकर ग्रामीणों के ललकारने पर सभी हमलावर मौके से फरार हो गए।हत्या की सूचना पर पूरे गांव में सनसनी फ़ैल गई। सूचना पर मौके पर पंहुची पुलिस ने जांच पड़ताल व परिवार वालों से पूछताछ के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
... और पढ़ें

Kaushambi: अंग्रेजी व देशी शराब के दो सेल्समैन की हत्या

कौशाम्बीः शराब के दो सेल्समैनों की नृशंस हत्या से सनसनी

कानून व्यवस्था को खुली चुनौती देते हुए गुरुवार रात कोखराज कोतवाली से महज पांच सौ मीटर की दूरी पर बेखौफ बदमाशों ने अंग्रेजी व देशी शराब की दुकानों के दो सेल्समैन की हत्या कर दी। एक को गला घोटकर तो दूसरे को गर्दन रेतकर मौत की नींद सुलाया गया। पुलिस की ओर से सनसनीखेज वारदात के पीछे पुरानी रंजिश या लेनदेन का विवाद होने की बात कही जा रही है। सुबह जानकारी पाकर अपर पुलिस महानिदेशक तथा एसपी ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। फिलहाल रिपोर्ट नहीं दर्ज की जा सकी है।
 
कोखराज कोतवाली के समीप स्थित एक मकान की अलग-अलग शटर में अंग्रेजी व देशी मदिरा की दुकान है। सैनी इलाके के निहालपुरा गांव का राजेन्द्र जायसवाल (45) पुत्र मेवालाल इंग्लिश तो अकबरपुर सिपाह गांव का शिवप्रकाश तिवारी (50) पुत्र केदारनाथ देशी शराब की दुकान का सेल्समैन था। गुरुवार रात दुकान बंद कर दोनों बरामदे में सो गए।

इस दौरान राजेन्द्र की गला दबाकर और शिवप्रकाश की धारदार हथियार से गर्दन रेतकर हत्या कर दी गई। सुबह पड़ोसियों ने चारपाई पर सेल्समैनों की लाश पड़ी देशी देखी तो इलाके में सनसनी फैल गई। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी अभिनंदन फोर्स तथा फील्ड यूनिट टीम के साथ मौके पर पहुंचे। बाद में अपर पुलिस महानिदेशक ने भी घटनास्थल पहुंचकर जांच की।

एसपी के मुताबिक बदमाशों का इरादा लूटपाट का नहीं रहा होगा। संभवतः रंजिश या लेनदेन के विवाद में हत्या की गई है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि हो सकता है बदमाशों ने गन पॉइंट पर लेकर सेल्समैनों से शटर की चाभी मांगी हो, न देने पर वारदात को अंजाम दिया हो। ये भी हो सकता है कि देर रात शराब देने से मना करने पर हत्या की गई हो।  

पुलिस इस तरह के सभी बिंदुओं पर बारीकी से जांच कर रही है। प्राथमिक जांच में पुलिस अधिकारी किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सके हैं। एसपी का कहना है कि जल्द घटना का खुलासा कर दिया जाएगा।
... और पढ़ें

कोरोना संक्रमण से मुक्त हुआ जिला कारागार, डीजीपी ने की सराहना

जिला कारागार के बंदी व स्टाफ पूरी तरह से कोरोना संक्रमण से मुक्त हैं। बुधवार को डीजीपी जेल आनंद कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कोविड-19 को लेकर कराई जाने वाली जांच की समीक्षा की तो कौशांबी का कारागार मंडल में पहले स्थान पर आया। यहां बंद व स्टाफ की सौ फीसदी जांच हो चुकी है।
जेल अधीक्षक बीएस मुकुंद ने बताया कि बुधवार को सूबे के सभी जनपदों की समीक्षा की गई थी। जिसमें कई जनपदों में बंदी व स्टाफ की कोविड-19 की जांच काफी कम पाई गई। इस पर डीजीपी ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि कम से कम 50 फीसदी जांच हर जेल में होनी चाहिए। इसके बाद कौशाम्बी में इसका पूरी तरह अमल किया गया।
इस बाबत जेल अधीक्षक का कहना है कि कौशांबी कारागार कोरोना टेस्ट के मामले में पहले स्थान पर रहा। बताया कि जिला कारागार में आठ सौ बंदी और 66 स्टाफ हैं। सभी की लगभग दो बार जांच हो चुकी है। सभी की रिपोर्ट निगेटिव है। इसके अलावा नए बंदियों को जेल के सामने बने अस्थाई जेल आईटीआई में रखा जाता है। वहां आने वाले बंदी की एंटीजन किट से जांच कराई जाती है।
इसके बाद उसे वहीं पर 14 दिन तक क्वारंटीन रखा जाता है। 14 दिन की अवधि पूरी होने पर स्वॉब सैंपल की जांच कराने के बाद ही नए बंदी को जिला कारागार में भेजा जाता है। अस्थाई कारागार के अंदर की व्यवस्था जेल प्रशासन की होती है। बाहरी व्यवस्था पुलिस करती है। यही कारण है कि 14 अगस्त के बाद से लेकर अब तक कारागार के बंदी व स्टाफ संक्रमित नहीं हुए। इससे पहले जो 14 लोग संक्रमित मिले थे, वह भी इलाज के बाद अब पूरी तरह से स्वस्थ होकर कारागार आ गए हैं।
... और पढ़ें

अनदेखी की आंच में झुलसकर मुरझा गए 40 % पौधे

जिले में पौधरोपण अभियान के तहत हरियाली बिखेरने के दावे लापरवाही की आंच में झुलस गए हैं। यहां जुलाई-अगस्त में वृहद पौधरोपण अभियान के तहत लगाए गए पौधों में 40 फीसदी से ज्यादा सूख गए हैं। इसकी वजह अनदेखी और सुरक्षा उपकरणों का पर्याप्त इंतजाम नहीं होना है। ऐसा नहीं कि विभागीय अधिकारियों को इसकी जानकारी नहीं है। अफसर सबकुछ जानकर भी अंजान बने हुए हैं।
कौशाम्बी जनपद के विभिन्न स्थानों पर पिछले वर्ष पांच जुलाई को 18 लाख 42 हजार 706 पौधे रोपे गए थे। जबकि लक्ष्य 17 लाख 91 हजार 600 का ही था। इसके बाद अगस्त में एक लाख 67 हजार 633 पौधों का रोपण किया गया। वन विभाग ने यहां पौधे तो लक्ष्य से कई कदम आगे बढ़कर रोपित करा दिए मगर, रोपण के बाद इनकी देखभाल करना भूल गए । परिणाम रहा कि 40 फीसदी से अधिक पौधे सूख गए। विभाग का मानना है कि 10 फीसदी पौधे सूखते हैं, लेकिन जमीनी हकीकत बताने को काफी है।
जिले में पहले से ही वन क्षेत्र शून्य है। बावजूद इसके ट्री गार्ड, ईंट का सुरक्षा कवच आदि का इंतजाम कर पौधों को बचाने का प्रयास नहीं किया जा रहा है। खुद डीएफओ बताते हैं कि जिले भर में करीब 150 ट्री गार्ड और छह सौ के आसपास ईंट के सुरक्षा कवच बनाए गए हैं। बाकी स्थानों पर पौधों की हिफाजत भगवान भरोसे है। हालांकि अफसर इसके लिए स्कूलों की चहारदीवारी, तालाब की बाउंड्री आदि का हवाला देते हैं। बड़ी बात यह है कि जिलाधिकारी कार्यालय परिसर में लगे पौधों को भी नहीं बचाया जा सका है। अन्य कार्यालयों का भी यही हाल है। तमाम पौधे पशुओं का निवाला बन गए तो अधिकतर सूख गए हैं।
अफसर के पौधे भी सूखे
मंझनपुर। जिले के प्रभारी मंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय ने पांच जुलाई को मंझनपुर स्थित निर्माणाधीन बस डिपो में पौधरोपण किया था। यहां जनपद के सभी विधायक व अन्य नेता तथा अफसर मौजूद थे। प्रभारी मंत्री के द्वारा रोपा गया पौधा सूखकर गायब हो चुका है। ऐसे ही नोडल अफसर नीना शर्मा (सचिव अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास) ने लेहदरी गांव के समीप गंगा किनारे पौधरोपण किया था। उनके रोपित पौधे का भी कहीं नामोनिशान नहीं मिल रहा है।
... और पढ़ें

कौशाम्बी में वज्रपात से सगी बहनों समेत तीन की मौत

इलाके में मंगलवार की दोपहर बारिश के दौरान गिरी बिजली की चपेट में आने से दो सगी बहनों की मौत हो गई, जबकि मां-बेटी गंभीर रूप से झुलस गईं। दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसी तरह एक अन्य घटना में बकरी चराने गया किशोर भी बिजली की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौके पर जान चली गई। पुलिस ने पंचनामा भरकर शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। हादसे के बाद से पीड़ित परिवारों में कोहराम मचा हुआ है।

चायल तहसील के गौसपुर गांव निवासी शंकरलाल मजदूरी कर परिवार का गुजारा करता है। मंगलवार की दोपहर तकरीबन दो बजे उसकी पत्नी सरला देवी (45) अपनी बेटियों अर्चना (17), संजना (10) तथा आंचल (6) के साथ बस्ती से बाहर खेत में धान की निराई करने जा रही थी। रास्ते में अचानक तेज बारिश होने के साथ ही गरज के साथ बिजली गिरी, जिसकी चपेट में आने से आंचल की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि सरला व दो अन्य बेटियां गंभीर रूप से झुलस गईं।

मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने आननफानन झुलसी मां-बेटियों को इलाज के लिए नजदीकी अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में इलाज शुरू होने के घंटे भर बाद ही संजना की भी मौत हो गई। इसी तरह चायल तहसील के ही जुनैदपुर काजीपुर गांव निवासी हीरालाल ईंट-भट्ठे पर मजदूरी करता है। बताया जा रहा है कि हीरालाल का बेटा रामकरन (15) मंगलवार की शाम चार बजे बस्ती के बाहर महुआ की बाग में बकरी चराने गया था। वह भी बिजली की चपेट में आ गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। 
... और पढ़ें

Kaushambi News: कौशाम्बी में कोविड-19 की जांच करने पहुंची स्वास्थ्य टीम से अभद्रता, एंबुलेंस फूंकने की कोशिश

कोविड-19 की जांच करने करारी इलाके के अगियौना गांव पहुंची स्वास्थ्य टीम से गुरुवार को दबंगों ने अभद्रता की। यहां तक कि चिकित्सा कर्मचारियों का वाहन फूंकने का भी प्रयास किया। डॉक्टरों ने किसी तरह मौके से हटकर अपनी जान बचाई। मामले में एक नामजद व दस अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट लिखी गई है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है। 

मंझनपुर प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के डॉ. अरुण केसरवानी व डॉ. अलीमा खातून बुधवार को भी अपनी टीम के साथ कोरोना की जांच करने अगयिौना गए थे। तब वहां एंजीटन किट की जांच में चार लोग पॉजिटिव पाए गए थे। गुरुवार को डॉक्टरों की टीम संक्रमित मिले इन मरीजों के परिजनों की जांच करने पहुंची थी।

डॉ. अरुण ने बताया कि गांव पहुंचते ही एक दबंग ने करीब दस साथियों के साथ मिलकर अपशब्द कहना शुरू कर दिया। उसने मिट्टी का तेल छिड़ककर वाहन फूंकने की कोशिश की। महिला चिकित्सकों तक से अभद्रता की। माहौल बिगड़ता देख डॉक्टरों की टीम जान बचाकर वहां से भाग निकली। साथ ही डॉ. अरुण ने मामले की जनकारी सदर एसडीएम राजेश चंद्रा व करारी पुलिस को दे दी। खबर मिलते ही एसडीएम पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे।

अफसरों की मौजूदगी में डॉक्टरों ने कोविड जांच करने का प्रयास किया लेकिन इसके लिए सिर्फ सात लोग ही राजी हुए। बाकी का कहना था कि जांच फर्जी तरीके से की जा रही है। संक्रमितों के परिजनों तथा संपर्कियों की भी जांच नहीं हो पाई है। घटना को लेकर जिले भर के कोरोना वॉरियर्स में आक्रोश है। उनका कहना है कि लोग सहयोग नहीं करेंगे तो फिर संक्रमण से जंग जीतना मुश्किल हो जाएगा। उधर, करारी पुलिस ने दबिश देकर आरोपियों को पकड़ने का भी प्रयास किया, पर कामयाबी नहीं मिल सकी। 
  • डॉक्टर की तहरीर पर मास्टर नाऊ के खिलाफ नामजद व दस अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। आरोपियों की तलाश में संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है। जल्द ही सभी को पकड़कर जेल भेजा जाएगा। अशोक कुमार-इंस्पेक्टर, करारी
... और पढ़ें

Prayagraj Crime News: मूकबधिर किशोरी को अगवा किया, दरिंदगी के बाद मार डाला

क्राइम
पूरामुफ्ती कोतवाली इलाके में गुरुवार को अपहरण कर दरिंदगी के बाद एक मूकबधिर किशोरी की गला घोटकर हत्या कर दी गई। घटना के करीब छह घंटे बाद पुलिस ने घेरकर आरोपी को पैर में गोली मार दी। फिर उसे गिरफ्तार कर लिया। मृतका के पिता की तहरीर पर दरिंदे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। सनसनीखेज वारदात को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है।

पूरामुफ्ती कोतवाली इलाके का एक व्यक्ति किसानी करके परिवार का खर्च चलाता है। गुरुवार को उसकी 16 वर्षीय मूकबधिर बेटी अपनी मां व बहन के साथ खेत गई थी। दोपहर करीब दो बजे मां ने मूकबधिर किशोरी को पानी लाने के लिए घर भेजा। वह काफी देर तक नहीं लौटी तो सभी परेशान हो गए।

खोजबीन के दौरान देर शाम गांव के बाहर झाड़ियों के बीच किशोरी का खून से लथपथ शव मिला। लाश के आसपास ही ग्रामीणों ने गांव के एक युवक को परेशान हालत में देखा। उससे पूछताछ करने का प्रयास किया गया तो वह भाग निकला। किशोरी के कपड़े उतरे हुए थे। उसके चेहरे पर खरोचे जाने के निशान थे।

लिहाजा ग्रामीणों को दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका हो गई। उधर, घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच कर मृतका का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस ने ग्रामीणों के बताए जाने के अनुसार लाश के इर्द-गिर्द मंडरा रहे युवक को पकड़ने का प्रयास किया तो वह भागने लगा।

लिहाजा पुलिस वालों ने घेरकर उसे पैर मेें गोली मार दी। फिर गिरफ्तार कर लिया। सीओ चायल केजी सिंह के मुताबिक आरोपी युवक ने रास्ते से अगवा कर दुष्कर्म के बाद दुपट्टे से गला घोटकर हत्या करने का जुर्म कुबूल किया है। उसको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उपचार के बाद जेल भेजा जाएगा। एसपी अभिनंदन ने भी कई कोतवाली की फोर्स तथा फील्ड यूनिट के साथ घटनास्थल का निरीक्षण किया है।
... और पढ़ें

Prayagraj Crime News: करोड़ों की संपत्ति हड़पने के लिए जीजा ने ही की थी एयरपोर्टकर्मी की हत्या

एयरपोर्ट के संविदाकर्मी राजीव उर्फ राजू हत्याकांड का पुलिस ने मंगलवार को खुलासा कर दिया। राजीव की हत्या उसके जीजा ने करोड़ों की जमीन हड़पने के इरादे से अपने अपने तीन दोस्तों के साथ मिलकर की थी। पुलिस ने आरोपी व उसके दोस्त को गिरफ्तार कर मृतक की बाइक, जला हेलमेट और आल्टो कार बरामद कर ली। पुलिस ने मामला दर्ज कर आरोपियों को जेल भेज दिया। दो अन्य फरार आरोपियों की तलाश की जा रही है।

पिपरी कोतवाली के जलालपुर घोषी का रहने वाला राजीव उर्फ राजू पुत्र रामनाथ कुशवाहा बम्हरौली एयरपोर्ट पर संविदाकर्मी था। सात अगस्त को वह घर से ड्यूटी के लिए निकला था। देर शाम तक घर नहीं लौटने पर परिजनों ने मोबाइल पर संपर्क किया तो वह बंद मिला। खोजबीन के बाद भी कोई सुराग नहीं मिलने पर घरवालों ने कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई। इसी बीच नौ अगस्त को फतेहपुर जनपद के असोथर क्षेत्र में नहर किनारे एक अधजला शव मिला।

सूचना पर पहुचे राजीव के परिजनों ने शव कीशिनाख्त की।इस पर एसपी अभिनंदन ने हत्या के खुलासे के लिए इंस्पेक्टर विजय कुमार राय के साथ ही एसओजी को लगाया। पुलिस ने मृतक राजीव समेत आधा दर्जन लोगों के मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगाए तो सुराग मिलने लगे। घटना के दिन राजीव के जीजा फतेहपुर जनपद के नरैनी निवासी वीरेंद्र की लोकेशन उसके साथ मिली। यह भी पता चला कि घटना के बाद से वीरेंद्र घर से फरार है। इस पर पुलिस का शक यकीन में बदल गया। मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने मंगलवार सुबह वीरेंद्र को घर से दबोच लिया। कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने अपने साले राजीव की हत्या का जुर्म कुबूल कर लिया।

वीरेंद्र ने पुलिस को बताया कि सात अगस्त को वह फतेहपुर के मुराइन टोला निवासी अपने दोस्त राजू वैरागी के साथ बम्हरौली पहुंचा था। छोटी बहन के लिए रिश्ता देखने के बहाने वह राजीव को अपनी आल्टो कार से फतेहपुर ले गया। वहां शहर में पानी टंकी के पास दो अन्य दोस्त विपिन व मुलायम मौर्य पहले से मौजूद थे। सभी ने वहां शराब पी। इसके बाद राजीव की झलवा स्थित करोड़ों की जमीन को लेकर सौदेबाजी शुरू हुई। विरोध करने पर उसकी हत्या कर कार शव को नहर किनारे फेंक दिया। पहचान छिपाने के लिए अगले दिन फिर जाकर शव पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगा दी। पुलिस ने वीरेंद्र के साथ उसके दोस्त विपिन को भी गिरफ्तार कर लिया। एएसपी समर बहादुर ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेंस कर घटना का खुलासा किया।
... और पढ़ें

पुलिस टीम पर हमले में नौ के खिलाफ एफआईआर दर्ज, आरोपियों पर रासुका लगाने की तैयारी

कानून व्यवस्था को खुली चुनौती देते हुए पुलिस टीम पर हमला करने के मामले में 9 हमलावरों पर एफआईआर दर्ज हो गई है। इनमें तीन को पुलिस ने गिरफ्तार भी कर लिया है। सभी पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत भी कार्रवाई होगी। घायल दरोगा की मौत की झूठी खबर वायरल करने वालों पर भी रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश एसपी ने दे दिए हैं। 

 कड़ा धाम कोतवाली के दरोगा केआर सिंह बुधवार रात हमराही सिपाही दिलीप सिंह यादव व एक अन्य के साथ चोरी के आरोपी की गिरफ्तारी करने सैनी क्षेत्र के कछुआ गांव गए थे। दबिश के दौरान बस्ती के लोगों से पुलिस टीम की बहस हो गई थी। जिसके बाद लोगों ने घेरकर दरोगा-सिपाहियों पर
... और पढ़ें

Prayagraj Crime News: जीवन बीमा के 30 हजार रुपये को लेकर खूनी संघर्ष, महिला समेत दो की मौत

स्थानीय कोतवाली क्षेत्र के महेंद्र गांव में सोमवार शाम महज 30 हजार के बीमे की रकम को लेकर दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई। इसमें दोनों पक्षों के छह लोग घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। इलाज के दौरान अभिकर्ता की मां संतोषी देवी व पड़ोसी चौबेलाल की मौत हो गई। गांव में तनाव के मद्देनजर गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है। मामले में दोनों पक्ष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। 

महेंद्र गांव निवासी रामलखन का बेटा मनीष एक निजी कंपनी में बीमा अभिकर्ता है। उसने पड़ोसी बोमी के पुत्र चौबेलाल का पिछले वर्ष 30 हजार में जीवन बीमा किया था। लेकिन बीते दिनों बीमा कंपनी ग्राहकों के पैसे लेकर फरार हो गई। चौबेलाल ने मनीष से अपने 30,000 रुपये वापस मांगे। मनीष ने रकम का कुछ हिस्सा देने के लिए चौबेलाल को कहा था।

सोमवार शाम जब चौबेलाल रुपये लेने के लिए मनीष के घर पहुंचा तो दोनों में कहासुनी हो गई। देखते ही देखते दोनों तरफ  से लाठी-डंडे निकल आए। इस दौरान मनीष की मां संतोषी देवी और दूसरे पक्ष के चौबेलाल के सिर पर हमला कर दिया गया।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेजा। जहां पर चिकित्सकों ने संतोषी देवी को मृत घोषित कर दिया, जबकि कुछ देर बाद चौबेलाल की भी मौत हो गई। मारपीट में चौबेलाल के पक्ष की ओर से शिवमोहन की पुत्री सीमा देवी तथा बरुवा निवासी रिश्तेदार हरिश्चंद्र को चोटें आई है। वहीं संतोषी देवी के पक्ष से उसके पति राम लखन और बेटे मनीष को चोटें आई है। चारों घायलों का उपचार जिला अस्पताल में चल रहा है।
... और पढ़ें

Kaushambi News: कौशाम्बी में ग्रामीणों ने दरोगा और सिपाहियों को घेरकर पीटा, छीनी सर्विस रिवॉल्वर

चोरी के एक मामले में दबिश देनी गई कड़ा धाम कोतवाली पुलिस पर कछुआ गांव के लोगों ने हमला कर दिया। ग्रामीणों ने घेरकर पिटाई करने के बाद दरोगा की सर्विस रिवाल्वर छीन ली। पिटाई से दरोगा और दो सिपाही घायल हो गए। इनको जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की जानकारी मिलने पर एएसपी मौके पर पहुंचे। पुलिस हमलावरों और रिवाल्वर की तलाश कर रही है।

कड़ा धाम कोतवाली के उपनिरीक्षक कृष्णराज सिंह, सिपाही दिलीप सिंह यादव व एक अन्य सिपाही के साथ बुधवार रात तकरीबन आठ बजे सैनी क्षेत्र के कछुआ गांव में चोरी के एक मामले में दबिश देने गए थे। बताया जाता है कि दबिश को लेकर पुलिस पार्टी से ग्रामीणों की बहस हो गई। विवाद बढ़ने पर ग्रामीणों ने घेरकर पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया।
... और पढ़ें

Kaushambi News:  पूर्व चेयरमैन के बेटों ने बंधक बनाकर महिला संग किया गैंगरेप!

स्थानीय नगर पंचायत की पूर्व चेयरमैन के बेटों ने शनिवार रात बंधक बनाकर एक महिला संग सामूहिक दुराचार किया। पीड़िता ने साफ-सफाई के बहाने घर बुलाकर दरिंदगी करने का इल्जाम लगाया है। उसकी तहरीर पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। आरोपों की जांच कराई जा रही है। 

नगर कोतवाली इलाके की एक महिला का कहना है कि शनिवार रात मंझनपुर की पूर्व चेयरमैन हाशिमी बेगम के बेटे शबीह हैदर उर्फ मीनू ने साफ-सफाई कराने के बहाने उसे अपने घर बुलाया। इसके बाद एक कमरे में बंधक बना लिया। वहां मीनू के साथ उसके भाई औन ने भी महिला के साथ दुराचार किया। विरोध करने पर लात-घूसों से पिटाई की।

इसके बाद कहीं भी शिकायत करने पर पूरे परिवार को जिंदा जलाकर मार डालने की धमकी देते हुए भगा दिया। घटना से डरी-सहमी पीड़िता ने घर पहुंचकर आपबीती परिजनों को बताई तो उनके होश उड़ गए। पीड़ित महिला ने रात को ही पुलिस को तहरीर दिया। हाईप्रोफाइल यह प्रकरण सोशल मीडिया में भी वायरल हो गया।

तमाम लोगों ने डीजीपी तक को ट्वीट कर दिया। नतीजा रहा कि हरकत में आई पुलिस ने देर रात केस दर्ज कर लिया। महिला को मेडिकल के लिए भेज दिया गया है। मामले में नगर कोतवाल मनीष कुमार पांडेय का कहना है कि रिपोर्ट दर्ज कर विवेचना कराई जा रही है। आरोप सही पाए गए तो दोषियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा। 

चार साल की मासूम से दुराचार का प्रयास

सैनी कोतवाली क्षेत्र का एक व्यक्ति किसानी करके परिवार का खर्च चलाता है। उसने बताया कि शनिवार शाम उसकी चार वर्षीय बेटी घर के बाहर खेल रही थी। तभी पड़ोसी नाबालिक लड़का बहाने से उसे सूनसान स्थान पर बुला ले गया। वहां उसने बच्ची के साथ दुराचार का प्रयास किया। विरोध करने पर बेरहमी से पिटाई की। चीख-पुकार पर लोगों को आता देख आरोपी फरार हो गया। पीड़ित पिता की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
... और पढ़ें
Ishwardin
Ishwardin
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us